बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगे तो अपनाएं यह वास्तु टिप्स उपाय – newposthub

बच्चे का पढ़ाई में मन नहीं लगे तो अपनाएं यह वास्तु टिप्स उपाय

0

अगर आपके बच्चे को पढ़ाई में मन नहीं लगता तो आप ना आइए वास्तु टिप्स

वास्तु दिशानिर्देशों का विज्ञान है और बच्चों की पढ़ाई में तथा अन्य कलात्मक गतिविधियों में श्रेष्ठता प्राप्त करने के लिए इसका महत्त्व है । बच्चों के माता पिताओं ने न सिर्फ स्कूली शिक्षा तथा अध्यापन ( ट्युशन्स ) पर बल्कि शिक्षा के लिए वास्तु पर भी अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए । अगर बच्चों की पढ़ाई का कमरा वास्तु अनुरूप नहीं है तो बच्चे को अपनी पढ़ाई में ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है और कुछ विषयों को समझने में मुश्किल हो सकती है । बच्चों के पढ़ाई के कमरे में सकारात्मक ऊर्जा होनी चाहिए

7वीं, 10वीं, 12वीं पास के लिए हाई कोर्ट में1500 से ज्यादा भर्तियां, आज ही करें अप्लाई

क्या आपको पता है की पढ़ाई में सरस्वती का स्थान कितना महत्त्वपूर्ण है ? अगर आपके घर के सरस्वती के स्थान में अगर दोष है तो आपके ज्ञान और शिक्षा पर इसका प्रभाव पड सकता है । व्यवसाय के विकास तथा संपत्ती के निर्माण पर अप्रत्यक्ष रूप से इसका प्रभाव पड़ सकता है । सरल वास्तु के विशेषज्ञ आपके घर के सरस्वती स्थान का विश्लेषण करेंगे और आपको कार्यवाही करने के लिए मदद करेंगे ।

सैलरी ₹30000 सुनहरा मौका फूडपांडा में 10वीं पास के लिए निकली है 2300 पदों पर भर्ती

क्या आपका बच्चा बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करता है ? बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करने से पढ़ाई के दौरान अध्ययन पर एकाग्रता कम हो जाती है इसलिए बिस्तर पर बैठकर पढ़ाई करने से बचें । बिस्तर पर बैठने से पढ़ाई के लिए अध्ययन में जो गंभीरता उत्पन्न होनी चाहिए वो नहीं होती है ।

पढ़ाई करते समय बच्चों ने कौन-सी दिशा का सामना करना आवश्यक है ? आपके बच्चे की अनुकूल दिशा कौन-सी है ? वास्तु दिशाओं का विज्ञान है और यह दिशाएँ सिर्फ वस्तुओं पर लागू नहीं होती बल्कि व्यक्तियों पर भी होती है । छात्र ने पढ़ाई करते समय अध्ययन में एकाग्रता को बढ़ाने के लिए उसका / उसकी चौथी अनुकूल दिशा का सामना करना चाहिए ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.