| |

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए पालन करे चाणक्य के ये 4 नीति

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए पालन करे चाणक्य के ये 4 नीति

‘चाणक्य नीति’ दुनिया भर में लोकप्रिय है। चाणक्य ने ‘चाणक्य नीति’ में बताया है कि व्यक्ति को किन चीजों से दूर रहना चाहिए। आज हम आपको उनके बारे में बताने जा रहे हैं।

अनभ्यासेक्सीं शास्त्रम्जीर्णे भोजनं विषम्।

दरिद्रस्य विषं गोष्ठी वृद्धस्य तरुणी विषम् ।।

हां, इस कविता का अर्थ है, “एक बड़े आदमी के लिए, एक सुंदर महिला एक जहर की तरह है।” बूढ़े व्यक्ति को एक युवा और सुंदर महिला से शादी करने से बचना चाहिए। एक अच्छे विवाहित जीवन के लिए, पति और पत्नी को मानसिक और शारीरिक स्तर पर एक-दूसरे से संतुष्ट होने की आवश्यकता है।

सैलरी ₹25000 सुनहरा मौका टाटा कंपनी में निकली है बंपर भर्ती

चाणक्य नीति का कहना है कि बिना अभ्यास के किसी के लिए भी शास्त्रों का ज्ञान बेकार है।

चाणक्य नीति के अनुसार, खराब पेट वाले व्यक्ति के लिए अच्छा भोजन भी जहर के समान है, और पेट खराब होने पर भोजन स्वास्थ्य को अधिक नुकसान पहुंचाता है।

सैलरी ₹35000 8वीं 10वीं पास के लिए किस विभाग में निकली है 10000 पदों पर बंपर भर्ती

आप भी हो गए हैं बेरोजगारी से परेशान ? एक टेस्ट दें और पा लें नौकरी..

चाणक्य नीति कहती है कि एक गरीब व्यक्ति के लिए एक सेमिनार होता है, जैसे एक जहर होता है, और गरीबों के पास अच्छे कपड़े नहीं होते हैं और अगर वे किसी कार्यक्रम में जाते हैं, तो उन्हें अपमानित होना पड़ता है। इस कारण से, किसी भी स्वाभिमानी गरीब व्यक्ति के लिए, समारोह में जाना जहर के समान है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *